Latest News

Tuesday, 10 January 2017

मैं गलत था तो क्यों दिया गया गोल्ड मेडल और 16 अवॉर्ड?

loading...
loading...
गुरुवार को सोशल मीडिया पर एक वीडियो मैसेज के जरिए अपना दर्द बयाँ करने वाले बीएसएफ जवान Tejbahadur-Yadav पर अब अनुशासनहीनता के आरोप लग रहे हैं। बीएसएफ के एक अधिकारी ने बताया कि यादव पर कई मामलों में अनुशासनात्‍मक कार्रवाई हो चुकी है। अधिकारी के मुताबिक यादव कई मामलों में सजा तक काट चुका है। इसके अलावा जवान पर सही तरीका अपनाने की जगह वीडियो के जरिए शिकायत करने पर अनुशासनहीनता के आरोप लग रहे हैं। हालांकि खुद जवान ने भी इन आरोपों पर अपनी सफाई पेश की है।


आपको बता दे कि वीडियो बनाने वाले Tejbahadur-Yadav ने एक मीडिया चैनल को दिए जवाब में कहा , “जहां मैं रहता हूं मैने वहां के कमांडेंट को इस बारे में सूचित किया था, लेकिन जब कोई एक्शन नहीं हुआ तब जाकर मैने वीडियो के जरिए सच्चाई दिखाने का फैसला लिया।

वहीं, अपने करियर पर उठाए गए सवालों के जवाब में जवान Tejbahadur-Yadav ने कहा कि आरोप लगाने वालों से यह भी पूछा जाए कि अगर मैं इतना ही गलत था तो क्यों उन्हें अवार्ड दिए गए। तेज बहादुर ने बताया कि उन्हें 16 बार सम्मानित किया जा चुका है और एक बार वह गोल्ड मेडल भी जीत चुके हैं। हालांकि उन्होंने माना कि करियर में उन्होंने कुछ गलतिया कीं, लेकिन फिर वह उनमें सुधार भी कर चुके हैं।

Tejbahadur-Yadav ने ये सब कहा है वीडियो में :-

वीडियो में Tejbahadur-Yadav कहते हैं, ‘देशवासियों मैं आपसे एक अनुरोध करना चाहता हूं। हम लोग सुबह 6 बजे से शाम 5 बजे तक, लगातार 11 घंटे इस बर्फ में खड़े होकर ड्यूटी करते हैं। कितना भी बर्फ हो, बारिश हो, तूफान हो, इन्‍हीं हालातों में हम ड्यूटी कर रहे हैं। फोटो में हम आपको बहुत अच्‍छे लग रहे होंगे मगर हमारी क्‍या सिचुएशन हैं, ये न मीडिया दिखाता है, न मिनिस्‍टर सुनता है। कोई भी सरकार आईं, हमारे हालात वहीं हैं। मैं इस के बाद तीन वीडियो भेजूंगा जिसको मैं चाहता हूं कि आप दिखाएं कि हमारे अधिकारी हमारे साथ कितना अत्‍याचार व अन्‍याय करते हैं। हम किसी सरकार के खिलाफ आरोप नहीं लगाना चाहते। क्‍योंकि सरकार हर चीज, हर सामान हमको देती है। मगर उच्‍च अधिकारी सब बेचकर खा जाते हैं, हमारे को कुछ नहीं मिलता। इसकी जांच होनी चाहिए।

No comments:

Post a Comment